Kukut Palan Yojana Maharashtra 4.8/5 (66)

Kukut Palan Yojana Maharashtra
Kukut Palan Yojana Maharashtra

Kukut Palan Yojana Maharashtra- कुक्कुट पालन योजना महाराष्ट्र

Kukut palan sarkari loan yojana maharashtra (कुक्कुट पालन कर्ज योजना महाराष्ट्र)- कृषि के साथ पशु पालन को देश में बढ़ावा देने के लिए इस योजना का आरंभ किया गया है। सरकार का उद्देश्य इस योजना के माध्यम से इस व्यवसाय के लिए धन की व्यवस्था कर अधिक रोजगार सृजन करना है।

यह एक बहुत अच्छा व्यवसाय है और कोई अगर पोल्ट्री फॉर्म व्यवसाय शुरू करना चाहता है तो सरकार उसकी मदद करने के लिए तैयार है। पोल्ट्री फॉर्म व्यवसाय यानी कुक्कुट पालन योजना पूरी तरह से सरकारी एजेंसी नाबार्ड (कृषि और ग्रामीण विकास के लिए नेशनल बैंक- NABARD National Bank for Agriculture and Rural Development) द्वारा समर्थित है।

Kukut Palan Yojana Maharashtra
Kukut Palan Yojana Maharashtra

व्यवसाय शुरू करने के पहले सबसे पहले आप यह जान ले कि पोल्ट्री व्यवसाय दो प्रकार के होते हैं-अंडा व्यापार या हैचिंग प्लांट और चिकन व्यवसाय या मुर्गा फार्म। किसी को अगर हैचिंग प्लांट अंडा व्यवसाय करना है तो उसे लेयर मुर्गियो का पालन करना होगा और कोई अगर चिकन व्यवसाय करना चाहता है तो उसको ब्रोइलर मुर्गी को पालना होगा।

 

कुक्कुट पालन कर्ज योजना प्रधान उद्देश्य

  • भारत की उत्पादन क्षमता को बढ़ाना।
  • बड़े स्तर पर उत्पादन करने के लिए व्यवसायियों को प्रोत्साहित करना।
  • देश की इकोनॉमी में बढ़त लाना।
  • किसानों को आत्मनिर्भर बनाना।

 

कुक्कुट पालन योजना महाराष्ट्र शासन – इस योजना के अंतर्गत किसे लाभ होगा

  • जो पोल्ट्री फॉर्म बिजनेस में रुचि रखते हैं और इसे शुरू करना चाहते हैं उन्हें इस योजना के तहत वित्तीय सहायता प्राप्त होगी।
  • पोल्ट्री शेड, फीड रूम बनाने के लिए सरकार से सहयोग,
  • अन्य आवश्यक सुविधाओं के निर्माण हेतु किसानों को ऋण।

 

Kukut palan scheme in maharashtra पात्रता

  • आवेदक को किसान होना चाहिए,
  • अकेला व्यक्ति विशेष या एंटरप्रेन्योर,
  • नॉन गवर्नमेंट ऑर्गेनाइजेशऩ,
  • प्राइवेट लिमिटेड कंपनी,
  • सहकारी संस्था,
  • असंगठित और संगठित क्षेत्र के समूह।

 

Kukut palan yojana maharashtra apply online form कहां करें आवेदन

मुर्गी पालन व्यवसाय के लिए जिन्हें कर्ज की आवश्यकता है वह निम्नलिखित संस्थानों में जाकर आवेदन कर सकते हैं–

  • राज्य सहकारी बैंक,
  • राज्य सहकारी कृषि और ग्रामीण विकास बैंक,
  • क्षेत्रीय ग्रामीण बैंक,
  • नाबार्ड द्वारा पुनर्वित के लिए पात्र संसाधन,
  • सभी व्यवसायिक बैंक आदि।

 

योजना कुक्कुट महाराष्ट्र जरूरी दस्तावेज

  • आवेदक का दो पासपोर्ट साइज फोटो,
  • आधार कार्ड,
  • वोटर आईडी कार्ड,
  • स्थाई निवास प्रमाण पत्र,
  • राशन कार्ड,
  • विस्तृत बिजनेस प्लान अथवा प्रोजेक्ट रिपोर्ट,
  • बैंक के स्टेटमेंट की प्रतिलिपि और जमानतदार इत्यादि।

कुक्कुट पालन कर्ज योजना 2019 शर्तें

  • आवेदक व्यक्ति के पास मूर्गी पालन का पर्याप्त अनुभव या प्रशिक्षण होना चाहिए।
  • ऐसे स्थान पर व्यवसाय शुरू करें जहां पर पर्याप्त श्रम शक्ति का उपयोग किया जा सके।
  • वाहनों द्वारा यातायात की सुविधा हो।
  • पॉल्ट्री शेड के निर्माण के लिए पर्याप्त और उपयुक्त भूमि हो।

 

kukut palan sarkari yojana maharashtra अनुमानित लागत

  • नाबार्ड द्वारा तैयार मॉडल परियोजना के मुताबिक यदि कोई पोल्ट्री ब्रोइलर मुर्गी फार्मिंग करना चाहता है और कम से कम दस हजार मुर्गियों के साथ व्यवसाय शुरू करना हो तो ४ से ५ लाख रुपये की स्वयं व्यवस्था करनी होगी तथा बैंक के द्वारा ७५ % अर्थात २७ लाख तक रुपए मिल सकेंगे।
  • यदि आवेदक दस हजार मुर्गियों के साथ कुक्कुट लेयर फार्मिंग यानी अंडा व्यवसाय करना चाहते हैं तो १० से १२ लाख रुपए की व्यवस्था करनी होगी और बैंक से ४० से ४२ लाख रुपये तक की व्यवस्था हो सकती है।
  • नाबार्ड कंसलटेंसी सेवा की मदद से बैंक में आसान कर्ज प्रक्रिया के लिए भी सहायता की जा सकती है।

सरकारी मान्यता प्राप्त विभिन्न बैंक अपने अपने नियम एवं शर्तों के अनुसार मुर्गी पालन योजना अर्थात कुक्कुट पालन योजना के अंतर्गत ऋण मुहैया कराते हैं। आवेदक अपनी जरूरत और सुविधा अनुसार इस योजना के अंतर्गत लाभ उठा सकता है।

 

Please rate this