Mukhyamantri Teerth Darshan Yojana Madhya Pradesh 5/5 (18)

Mukhyamantri Teerth Darshan Yojana Madhya Pradesh
Mukhyamantri Teerth Darshan Yojana Madhya Pradesh

Mukhyamantri Teerth Darshan Yojana Madhya Pradesh- मुख्यमंत्री तीर्थ दर्शन योजना मध्यप्रदेश

मुख्यमंत्री तीर्थ दर्शन योजना मध्यप्रदेश (teerth darshan yojana) – हिंदू धर्म शास्त्रों के अनुसार तीर्थ का आध्यात्मिक एवं परलौकिक महत्व है मानव के जीवन में। यह आस्था ही जीवन को अर्थ देती है चाहे वह किसी भी धर्म की हो। साधारण अर्थ में आध्यात्मिक एवं धार्मिक महत्त्व वाले स्थान को तीर्थ कहते हैं। इस दृष्टि से भारत को अखिल विश्व में विश्व गुरु का गौरव प्राप्त है। संपूर्ण भारत ही एक पावन धरती है।

भारत वर्ष में धार्मिक आस्थाओं के उद्देश्य की पूर्ति करने हेतु चारो दिशा में ४ धामों की स्थापना की गई है आदि शंकराचार्य द्वारा। उत्तर में बद्रीनाथ, दक्षिण में रामेश्वरम, पूर्व में जगन्नाथ पुरी एवं पश्चिम में द्वारका धाम के रूप में चार धाम हिंदू आस्थाओं को परिपूर्ण करने वाले स्थापित किए गए हैं। इन धामों के अलावा और भी कई तीर्थ है जिनकी यात्रा का अति धार्मिक महत्व है। इन सब स्थानों पर यात्रा कर मनुष्य अपने भाग्य को और मनीष जीवन को चरितार्थ करता है। इसी धारणा को चरितार्थ करने के लिए मध्य प्रदेश सरकार द्वारा वरिष्ठ नागरिकों को यात्रा कराने के क्षेत्र में एक अनोखी पहल की गई है। ऐसे वरिष्ठ जिन्होंने यात्रा का सपना संजोया है उनके लिए एक वरदान बन कर आई है मध्य प्रदेश सरकार। तीर्थ दर्शन योजना का क्रियान्वन धार्मिक न्यास एवं धर्मस्व विभाग द्वारा किया जा रहा है।

Mukhyamantri Teerth Darshan Yojana Madhya Pradesh
Mukhyamantri Teerth Darshan Yojana Madhya Pradesh

तीर्थ दर्शन योजना उद्देश्य

  • योजना का मुख्य एवं प्रधान उद्देश्य बुजुर्गों को निशुल्क धार्मिक स्थलों की यात्रा करवाना है।
  • ऐसे बुजुर्ग जो धर्म-स्थानों की यात्रा तो करना चाहते हैं परंतु आर्थिक अभाव के कारण उसे पूरा नहीं कर पाते। ऐसे में मध्य प्रदेश सरकार की योजना एक वरदान के रूप में साबित हो रही है।

 

मुख्यमंत्री तीर्थ दर्शन योजना मध्यप्रदेश पात्रता

  • आवेदक व्यक्ति मध्य प्रदेश का रहने वाला होना चाहिए,
  • बुजुर्ग व्यक्ति की उम्र ६० साल से अधिक हो।
  • करदाता नहीं होना चाहिए।
  • आवेदक ने पहले तीर्थ दर्शन योजना का लाभ न उठाया हो।
  • आवेदक शारीरिक और मानसिक रुप से फिट होना चाहिए।

 

Mukhyamantri teerth darshan yojna- योजना में आवेदन करने के लिए जरूरी दस्तावेज

  • मध्य प्रदेश स्थाई निवास प्रमाण पत्र
  • राशन कार्ड,
  • बीपीएल कार्ड,
  • वोटर कार्ड,
  • आधार कार्ड,
  • मनरेगा जॉब कार्ड,
  • दो पासपोर्ट साइज फोटोग्राफ इत्यादि।
  • आयु प्रमाण पत्र,
  • स्वास्थ्य प्रमाण पत्र इत्यादि।

 

मध्य प्रदेश मुख्यमंत्री तीर्थ दर्शन योजना( teerth darshan yojna ) की चयन प्रक्रिया

  • यदि आवेदन कोटा से अधिक है तो आवेदकों को लॉटरी के माध्यम से चुना जाता है।
  • तीर्थ यत्रियों का चयन कलेक्टर करेगा।
  • पहले आवेदन को प्राथमिकता दी जाएगी।
  • इसके अलावा १०% कोटा की प्रतीक्षा सूची भी तैयार की जाएगी।
  • विशेष यदि सरकार द्वारा निर्धारित की गई सुविधा के अलावा कोई दूसरी अन्य सुविधा का लाभ तीर्थयात्री उठाना चाहता है तो इसके लिए उसे स्वयं भुगतान करना होगा।

 

मध्य प्रदेश तीर्थ दर्शन योजना के तहत चाइनीत स्थान

  • श्री बदरीनाथ,
  • श्री केदारनाथ श्री,
  • जगन्नाथ पुरी,
  • श्री द्वारका जी,
  • हरिद्वार,
  • अमरनाथ,
  • वैष्णो देवी,
  • शिरडी,
  • तिरुपति,
  • अजमेर शरीफ,
  • श्रवण बेलगोला और बेलंगी चर्च, नागपट्टिम,
  • समेड शिखर,
  • रामेश्वरम,
  • अमृतसर
  • काशी आदि तीर्थ स्थल

 

आवेदन करने की प्रक्रिया- how to apply online

  • आवेदन कर्ता को सबसे पहले संबंधित योजना की आधिकारिक वेबसाइट पर जाकर आवेदन पत्र डाउनलोड करना होगा।
  • इसके बाद इसमें मांगी गई सभी जानकारी को सही सही भरें।
  • आवेदन पत्र की दो प्रतियों के साथ निकटतम तहसील या उप तहसील में जमा करा दें। साथ में जरूरी दस्तावेज जो की नकल कॉपी भी संलग्न करें।
  • ध्यान दें, अगर कोई भी जानकारी गलत पाई गई तो फॉर्म रद्द हो सकता है।

 

Please rate this